अच्छी सोच कैसे रखे – आप सभी को जरुर जानना चाहिये

हेलो दोस्तो केसे हो, एक बार फिर से आप सभी का स्वागत है हमारे ब्लॉग पर और आज का आर्टिकल है की, अच्छी सोच केसे रखे”. दोस्तो पॉज़िटिव और नेगेटिव थॉट्स का असर आपर और आपके लाइफ पर बहुत पड़ता है और ऐसे मे आप क्या ले कर साथ चलते हो वो आपर डिपेंड करता है. हर कोई यही चाहता है की वो पॉज़िटिव थिंकिंग (Positive Thinking) के साथ लाइफ मे आगे बढ़े, पर कई बार आपको ऐसे टाइम का सामना करना पढ़ता है जहा पर आपको निराशा ही हाथ लगती है और ऐसे टाइम पर नेगेटिव थॉट्स आपको जकड़ लेती है. हम इस आर्टिकल मे आपको ये बताएँगे की हमेशा अच्छी सोच के साथ केसे रहे? नीचे हमने step by step तरीके बता रखे है, हमे उम्मीद है की आपको ये तरीके बहुत काम आएँगे.

Achi Soch Kese Rakhe – Aap Sabhi Ko Jarur Janana Chahiye

 

अपने मे चेंजस करे

दोस्तो आपने लाइफ मे कुछ बनना है या कुछ भी करना है, इसके लिए आपको ही effort करना होता है. तो अगर आप अच्छी सोच रखना चाहते है तो आपको सबसे पहले अपने मे कुछ चेंजस करने होंगे. नीचे कुछ टिप्स बता रखे है, इन्हे पढ़े और अपनी लाइफ मे फॉलो करे.

1. नेगेटिव थॉट्स (Negative Thoughts) को अवॉयड (Avoid) करे

आप negative thoughts को आने से नही रोक सकते और ना ही इससे पीछा छुड़वा सकते हो. इंसान के अंदर 2 विचार होते है:- अच्छी सोच और बुरी सोच. अगर देखा जाए तो बुरी सोच इंसान पर जल्दी हावी होती है. जिस वजह से बुरे विचार पहले आते है और अच्छे विचार बाद मे. अगर आपको भी लगता है की आपके साथ भी ऐसा होता है तो दोस्तो आपको सबसे पहले अपने नेगेटिव थॉट्स को अवाय्ड करना सीखना होगा. आपको करना कुछ ना है, बस जब आपके मन मे किसी बात या कम के लिए नेगेटिव सोच आए तो उसी टाइम अच्छी चीज़ो को सोचना स्टार्ट कर दे. इससे क्या होगा की आपके अंदर नेगेटिव थॉट्स आने बंद हो जाएँगे. है ना सिंपल तरीका, हो सकता है की स्टार्टिंग मे आपको प्राब्लम आये पर ट्राइ करते रहे.

2. मेडिटेशन करे

रिसर्च की माने तो दोस्तो, मेडिटेशन करने के बहुत फायदे है. मेडिटेशन आपको अंदरूनी पावार (Power) देती है, आपका माइंड कंट्रोल मे करना सिखाती है और आपके थिंकिंग को और स्ट्रॉंग बनाता है. अगर आपको लगता है की आप नेगेटिव थॉट्स ज़्यादा सोचते हो तो आपको मेडिटेशन करना चाहिए. मेडिटेशन को हिन्दी मे ध्यान” कहते है, जो शांत जगह पर किया जाता है. मेडिटेशन करने का सही टाइम मॉर्निंग मे होता है, माना जाता है की मॉर्निंग मे सभी का दिमाग़ फ्रेश होता है जिससे मेडिटेशन करना आसान हो जाता है. आपको हर रोज कम से कम 20 मिनिट मेडिटेशन करना चाहिए.

3. Responsibility ले

रिसर्च से पाया गया है की जो लोग किसी भी काम को बिना responsibility के साथ करते है अक्सर देखा गया है की उनमे नेगेटिव थॉट्स ज़्यादा होते है. आप चाहे जो मर्ज़ी काम कर रहे हो उसे responsibility के साथ करे की, “मेने वो काम पूरा करना है”. ऐसे मे क्या होगा की जब आप वो काम पूरा कर लोगे तो automatically आपमे positivity आएगी, जो आपके लिए बहुत अच्छा है.

4. टाइम की वैल्यू को समझे

जो लोग टाइम की वैल्यू को नही समझते है अक्सर देखा गया है की वो लोग आगे जाकर पछताते है. ऐसे मे वो लोग अपने प्रेज़ेंट लाइफ को अच्छे से नही जी पाते और यही सोचते रहते है की, “काश मेने वो काम पहले कर लिया होता तो आज लाइफ कुछ और होती”. तो दोस्तो टाइम की वैल्यू को समझो और कोई भी काम कल पर ना छोड़े बल्कि अभी से करना स्टार्ट करदो. इस तरह से अगर आप लाइफ स्पेंड करोगे तो नेगेटिव थॉट्स का आने का कोई मतलब ही नही बनता है.

अच्छी सोच बनाने का तरीका

दोस्तो उपर हमने अपने मे सुधार करने के बारे मे बताया था पर अब हम और तरीक़ो पर भी बात करेंगे जिससे आपको हेल्प मेलेगी. दोस्तो हमे उम्मीद है की आपको ये तरीके बहुत पसंद आएँगे.

1. पॉज़िटिव लोगो के साथ टाइम स्पेंड करे

लगभग सभी के दोस्त होते है और ऐसे मे दोस्तो की संगति का असर पढ़ना आम बात है. आपने अक्सर देखा होगा की दोस्तो के साथ रहने से आपमे भी बहुत चेंजस आने लगते है जेसे की :- बोलने का तरीका, ड्रेसिंग सेन्स और सोच. तो दोस्तो आपको अच्छी सोच बनाने के लिए पॉज़िटिव लोगो के साथ टाइम स्पेंड करना होगा. पॉज़िटिव लोगो के साथ टाइम स्पेंड करने से आपकी पॉज़िटिव थिंकिंग इनक्रीस होती है और आपकी आदते अच्छी हो जाती है. ऐसे में नेगेटिव थॉट्स का आना मुस्किल हो जाता है क्योंकि आप पॉज़िटिव लोगो के साथ घिरे होते हो.

2. बुक्स या कोट्स पढ़े

दोस्तो जब भी आपको लगे की आपमे नेगेटिव विचार ज़्यादा आने लगे है तो उसी टाइम पॉज़िटिविटी को ढूंडना स्टार्ट कर दो. अपने पॉज़िटिव दोस्तो के साथ उस बारे मे बात करे जिस वजह से आपमे नेगेटिविटी आई है. नही तो motivational या inspiration बुक्स या कोट्स को पढ़ो. हमे उम्मीद है की इससे आपको बहुत हेल्प मिलेगी. हम तो आपको ये कहेंगे की हर रोज कुछ टाइम पढ़ने मे लगाए जिससे आपको पॉज़िटिव थिंकिंग मिले.

3. लोगो को मोटीवेट करे

अक्सर लोग दूसरे लोगो को मोटीवेट इसलिए नही करते है क्योंकि वो सोचते है की, हम तो अपनी लाइफ से खुद खज्जल है दूसरो को क्या सलाह देंगे. पर दोस्तो, आपको ये बात नही पता होगी की दूसरो को मोटीवेट करने से आप भी मोटीवेट होते हो और आपमे पॉज़िटिविटी आनी स्टार्ट हो जाती है. अगर आपको यकीन नही तो किसी पर ट्राइ करे, आपको खुद पता चल जाएगा.

4. अच्छा खाये

दोस्तो हमने अपने बहुत आर्टिकल मे आपको ये कहा है की, खाने से भी बहुत फर्क पड़ता है आपके माइंड और आपके सोच पर. तो हर रोज अच्छा खाना खाये मतलब अच्छी डाइट जेसे की “- फ्रूट्स, ग्रीन वेजिटेबल, ड्राइ फुड, healthy snacks etc etc. कोशिश करे की मसालेदार प्रॉडक्ट्स को अवाय्ड करे, इससे नेगेटिविटी बहुत आती है.

5. वर्काउट रेगुलरी (Workout Regularly)

जेसे वर्काउट आपके बॉडी को healthy रखती है वेसे ही आपके माइंड को फ्रेश और कंट्रोल रखने मे हेल्प करती है. रेगुलर वर्काउट करने से माइंड की पॉवर इनक्रीस होती है, जो आपके लिए बहुत अच्छा है. हमेशा कोशिश करे की मॉर्निंग मे ही वर्काउट करे वो भी कम से कम 20 मिनिट तक. वर्काउट मे आप :- जॉगिंग, रनिंग, वॉकिंग, लाइट एक्ससाइज़ कर सकते हो. अगर आप GYM ज्वाइन करना चाहते है तो कर सकते है.

तो दोस्तो आपको हमारा ये वाला आर्टिकल केसा लगा, हमे अपने ओपीनियन बताने के लिए कॉमेंट भाग मे कॉमेंट करे और हा यार इस आर्टिकल को शेयर करना ना भूले.

 

निचे और भी आर्टिकल है

Advertisement
loading...

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here