बुरी आदतों से कैसे छुटकारा पाये – Break Bad Habits In Hindi

तो कैसे हो आप लोग, दोस्तों आप सभी का स्वागत है हमारे blog पर और आज का article है कि, “बुरी आदतों से कैसे छुटकारा पाये”. बुरी आदतों का मतलब है bad habits और bad habits सभी लोगो की नजर में बुरी आदते है. दोस्तों हम सब अपनी life में successful और happy होना चाहते है पर फिर भी हम सब में से हर कोई कामयाब नहीं हो पाते, अगर इसके पीछे reason की बात की जाये तो हमारी बुरी आदते एक बड़ा कारण है. बुरी आदते मतलब bad habits आपकी life को happy बनने से रोकती है और आपको अपने life goal से दूर रखती है.

अब बात करते है कि, क्या सभी में कुछ ना कुछ बुरी आदते होती है? जी, हा सभी में कोई ना कोई बुरी आदते होती है. कुछ बुरी आदते आपके लिये मददगार साबित होती है तो कुछ बुरी आदते आपको फसा देते है. पर ज्यादातार मामलों में बुरी आदते हमे नुक्सान ही पहुचाती है. अगर आप चाहती है या चाहते है अपने बुरी आदतों को खत्म करना तो आपको ये article पूरा पढना चाहिये. So, please check out below for more information…………………………………………………..

बुरी आदतों से कैसे छुटकारा पाये – Break Bad Habits In Hindi

बुरी आदते कोन कोन सी होती है

अगर आप बुरी आदतों को दूर करना चाहते है तो आपको पहले ये समझना होगा कि, बुरी आदते होती कोन कोन सी है. नीचे हमने कुछ बुरी आदते show करी है जो बहुत common है. आप इनमे से अपनी बुरी आदतों को पहचाने.

1. झूठ बोलना

हम में से हर कोई झूठ बोलते ही बोलते है और हमे पता भी होता है है की ये बुरी आदते है पर फिर भी हम बोलते है. पर दोस्तों ये भी तो सोचो की एक सच को छुपाने के चक्कर में हम 100 झूठ बोलते ही जाते है. कभी situation के हिसाब से झूठ बोलते है, तो कभी किसी को बचाने के चक्कर में झूठ बोलते तो कभी कुछ कभी कुछ ऐसे करते करते ये हमारी आदत बन जाती है जो की बुरी है.

2. चोरी करना

Exactly, चोरी करना भी एक बुरी आदतों में से एक है. चोरी हम तब करते है जब हम उससे सामने से नहीं मांग पाते है तब हमे किसी चीज़ को चोरी करनी पड़ती है. कभी कभी हम ये खेल खेल में भी करते है तो कभी अपनी जिंदगी में seriously करते है but जैसा भी है चोरी तो चोरी है दोस्तों जो की एक बुरी आदत है.

3. लडाई करना

आज कल के समय में बहुत से ऐसे लोग है जो छोटी छोटी बातो पर जल्दी गुस्सा हो जाते है और लड़ाई कर बैठते है या कुछ लोग ऐसे होते है जिनको मौका चाहिए होता है लड़ाई करने का ताकि वो अपनी अंदर की frustration को निकाल सके. अपने अंदर का गुस्सा बहार निकालने के लिए जो इंसान लड़ाई का सहारा लेता है वो ना तो खुश रह पता है ना दुसरो को खुश रख पता है और ऐसी बुरी आदतों का आदि हो जाता है.

4. Alcohol, Smoking और Drugs लेना

आज के youth का एक fashion बन गया है अपने आप को cool दिखाने के लिए alcohol, smoking और drugs का सहारा लेते है नहीं तो उनके दोस्त उन्हें बेकार कहते है. ये ऐसी बुरी आदत है जो आपकी life को destroy कर के ही पीछा छोडती है. तो दोस्तों इससे जितना हो सके दूर रहने की कोशिश करे. क्योंकि एक बार आप ने इस बुरी आदत को अपना लिया तो ये आपको कभी नहीं छोड़ेगी.

5. Time का फालतु इस्तेमाल करना

पुरे दिन में हमे 24 घंटे मिलते है जिससे हम बहुत अच्छे से use कर सकते है पर आलस में आ कर या बुरी संगति में पढ़ कर हम समय फालतु इस्तेमाल करना शुरू कर देते है. जो की बुरी आदतों में शामिल है. समय का फालतु इस्तेमाल कैसे हो सकता है- सारा दिन सो कर, काफी समय तक टीवी देख कर, बहार फालतु घूम कर आदि.

6. नाखून चबाना

नाख़ून चबाना क्या एक बुरी आदत है? नाखून बढ़ते है वो उसका काम है but उसे समय पर काटना ये हमारा काम है क्योंकि बढे हुए नाख़ून में कई तरह के bacteria चले जाते है और उसी गंदे नाख़ून को चबाना मतलब bacteria को अपने शरीर में डालना जिससे बीमारिया हो सकती है. तो हुई ना ये बुरी आदत.

7. ढंग से बात ना करना

आज के समय में कोई भी किसी की नहीं सुनता है क्योंकि अगर हमे कुछ कह दे चाहे वो बुरा हो या अच्छा हमे जल्दी से उनकी बाते दिल में लग जाती है जिसकी वजह से हम react करते है और बुरी बातो को तो जल्दी से react करते है और सामने वाले से ढंग से बात नहीं करते. धीरे धीरे ये हमारी आदत बन जाती है और अगर कोई हमसे ढंग से बात भी कर रहा होगा तो भी हम उससे चिड कर बात करते है क्योंकि अब वो हमारी habit बन चुकी होती है.

किस वजह से बुरी आदते आती है

अब बात करते है कि, किस वजह से बुरी आदते आती है? तभी आप जान पाओगे कि, बुरी आदते आती क्यों है?

1. Stress और Tension की वजह से

कही ना कही tension या stress की वजह से हमे बुरी आदते समा जाती है. ऐसा क्यों होता है? जब इन्सान tension में होता है तो वो चिडा हुआ होता है और अगर उस time उससे कोई ढंग से भी बात कर रहा होगा तो भी वो चिड के ही उससे बात करेगा क्योंकि उसका mood already ख़राब हुआ होता है. उस चिडे हुए इंसान को उस समय अपनी बुरी हरकतों के बारे में पता नहीं चलता है but जब पता चलता है तब वो उसका आदि हो चुका होता है. तो कही ना कही stress और tension इन्सान के अंदर बुरी आदते लाने की वजह है.

2. उदास होने की वजह से

ज्यादातर आपने देखा होगा की जब इंसान उदास रहता है तो वो दारू का सहारा या drugs लेता है क्योंकि उसे उस समय ऐसा लगता है की ये सब लेने से उसकी उदासी दूर हो जाएगी जो की वो गलत सोचता है. पर हमारा दिमाग उस तरफ ही होता है और हम बुरी आदतों की ओर अपना कदम उठा लेते है. तो कही ना कही इन्सान की उदासी भी बुरी आदतों की वजह है.

3. आस पास Negativity का होना

अगर इन्सान के आस पास का माहोल ही negative से भरा हुआ होगा तो उसकी आदते भी तो negative होने लगेगी जिसकी वजह से वो अंदर से भी वैसा ही इन्सान बन जायेगा तो कही ना कही हमारी ज़िन्दगी में हमारे आस पास का माहोल भी असर करवाता है. Negativity में जैसे दोस्तों की संगती, माँ बाप का वयवहार, आस पड़ोस आदि ये सब इन्सान के जिंदगी में असर डालते है.

बुरी आदते छोड़ने का तरीका

दोस्तों इस section में हम आपकी बुरी आदतों को छुड़ाने की कोशिश करेंगे. हमे उम्मीद है कि, इन तरीको से आपको थोडा बहुत फायदा जरुर होगा.

1. पहले एक List बनाये

अगर आप सच में चाहते हो की आपकी बुरी आदतों दूर हो जाये तो उसकी पहली एक dairy में list बनाये की आप कैसे है? आपकी बुरी आदते क्या क्या है?

ये बहुत मुश्किल होता है की खुद की बुरी आदतों के बारे में बात करना या उसके बारे में सोचना क्योंकि इन्सान अपने अच्छी बातो को ध्यान में रखता है उसके बारे में सोचता है पर बुरी बातो को ज्यादातर avoid ही करता है तो सही इंसान वही है जो अपने अंदर बुरी आदतों को remove कर सके. उसके लिए एक dairy में सब कुछ लिखे जो भी आप अपने बारे में जानते हो.

2. अब अपनी बुरी आदतों के बारे में Search करे

Search का मतलब जैसे आपको दुःख या शोक है तो उसका असर आपके फेफड़े और बड़ी आंतो पर पड़ता है, और जैसे आपको चिंता, दर्द या उदासी है तो उसका असर आपके पेट पर पड़ता है. तो दोस्तों आप बहुत कुछ search कर सकते हो internet में अपने बुरी आदतों को देख कर की किस का असर हमारे ज़िन्दगी में और हमारे शरीर में कैसा पड़ता है. तो ये जानना भी बहुत जरूरी है तभी कही ना कही आपकी बुरी आदते छुटेगी.

3. ध्यान लगाये

ध्यान लगाने से हमारा मन शांत रहता है और फालतु के सोच दिमाग में नहीं आते है जिसकी वजह से हम बुरी आदतों में पड़े हुए है. ध्यान लगाने से दिमाग और मन दोनों control में रहता है. ध्यान (meditation) हमारे मन को शांत बनाये रखने में और गुस्सा, tension, stress जैसी चीजों से दूर करने में मदद करता है इसलिए रोज़ morning में ध्यान लगाना चाहिए.

4. अच्छा सोचे

जब इन्सान के साथ कुछ बुरा होने लगता है तो उसका दिमाग में भी बुरी चीजों का ख्याल आने लगता है और ऐसे में अच्छा सोचना इन्सान के बस में नहीं होता है. पर अगर बुरी situation में भी हम इंसान अच्छा सोचे तो उस बुरे समय में भी हमारे लिए कुछ ना कुछ अच्छा जरूर निकल जाता है. ये बस हमारे सोचने का नज़रिया है जिससे हमने change करना है क्योंकि एक हम खुद है जिसे सही direction में ला सकते है कोई दूसरा इन्सान हमे बुरी आदतों से छुटकारा दिलवाने नहीं आयेगा.

दोस्तों हमे पूरी उम्मीद है कि, आपको हमारा ये वाला article बहुत पसंद आया होगा. अगर आपके मन में कोई ओर सवाल है तो हमे direct commenting के through पूछे. दोस्तों हमारे साथ बने रहे next article के लिये. Take care and have a nice day all of you.

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here