दूसरो कि Respect कैसे करे – जाने जबरदस्त तरीका

हेलो फ्रेंड्स केसे हो, हमे उम्मीद है की आपको हमारा सभी आर्टिकल टाइम to टाइम पसंद आरहे होंगे और आज का आर्टिकल है की, दूसरो की Respect कैसे करे”. आप सभी को ये बात माननी होगी की आप दूसरो की रिस्पेक्ट तभी कर सकते हो जब आप अपनी रिस्पेक्ट करते हो. दूसरो को रिस्पेक्ट करने का मतलब ये है की आप अपने रिलेशनशिप को मजबूत कर रहे हो. दोस्तो अपनी respect करने से आपको रिस्पेक्ट करने की हॅबिट बनती है जो दूसरो के काम भी आती है. अगर आप ये आर्टिकल पढ़े रहे है तो इसका मतलब है की आपको रिस्पेक्ट करने के बारे मे पता नही है और आप ये जानना चाहते है. तो दोस्तो आप सही जगह पर आये है, हमे कुछ बेस्ट और यूनीक तरीके बताए है जो आपको रिस्पेक्टफुली बनाने मे हेल्प करेंगे.

Dusaro Ki Respect Kaise Kare – Jane Jabardast Tarika

 

खुद की रिस्पेक्ट (Respect) करे

दोस्तो हमने उपर भी बताया था की दूसरो की रिस्पेक्ट करने से पहले अपनी रिस्पेक्ट करना सीखे तभी आप रिस्पेक्ट को समझ सकते है. नीचे हमने कुछ तरीके बता रखे है इन्हे फॉलो करे.

1. अपना ख्याल रखे

अपना ख्याल रखने से मतलब है की अपने बारे मे सोचना, आपमे क्या क्या सही है और क्या ग़लत है, अपने बॉडी का ख्याल रखना etc etc. आपको अपना ख्याल रखने के लिए अपने आपको अकेले मे टाइम देना चाहिए. सोचे की आपमे क्या क्या क्वालिटी है और आप किस वजह से लोगो के सामने बुरे बन जाते है. हर एक बात जो आपको लगे की ये सही नही है उसे ध्यान मे रखे और उसे सुधारने की कोशिश करे. उसी के साथ साथ अपने बॉडी पर भी ध्यान दे जेसे की :- अपने आपको साफ़ रखे, अच्छा ड्रेसिंग सेन्स रखे, फेस पर स्माइल रखे. ऐसा करने से सामने वाला आपको कैरिंग वाला समझता है.

2. अपना बिहेव मे सुधार करे

अगर आपको लगता है की आपका बिहेव औरो से बहुत खराब है जिस वजह से लोग आपको रिस्पेक्ट नही करते है तो सबसे पहले आपको अपना बिहेव अच्छा रखने की ज़रूरत है. बिहेव अच्छा रखने के लिए सबसे पहले अपने घर पर ही ट्राइ करे. अगर किसी को हेल्प की ज़रूरत है तो हेल्प करे, बडो का आदर करे, छोटो से प्यार करे, अगर आपको लगता है की कोई तारीफ के बहुत लायक है तो उसकी खूब तारीफ करे. इस तरह से आपमे कॉन्फिडेन्स आयेगा तभी आप बाहर भी लोगो को रिस्पेक्ट दे सकते है.

3. अच्छा खाये और एक्ससाइज़ करे

आपने अक्सर देखा होगा की आपका बिहेव आपके मूड पर होता है. जब आपका मूड अच्छा होता है तब आप सभी से अच्छे से बात करते हो मिलते हो पर अगर आपका मूड खराब होता है तो आपका किसी से भी बात करने का मन नही करता है. तो दोस्तो हमारा बोलने का मतलब ये है की, हमेशा मूड अच्छा रखने के लिए आपका mind healthy रखना बहुत ज़रूरी है और माइंड हेल्ती तभी रहेगा जब आपक हेल्ती डाइट लो या बॉडी एक्ससाइज़ करे.

दूसरो की रिस्पेक्ट (Respect) करने का तरीका

दोस्तो अब बात करते है की दूसरो की रिस्पेक्ट कैसे करे? रिस्पेक्ट शो करने के लिए आपको कुछ ट्रिक्स का पता होना बहुत ज़रूरी है और वो ट्रिक्स हमे नीचे शो करवा रखे है. इन्हे पढ़े और रिस्पेक्ट बनाए.

1. ध्यान से सुने

अगर अगला कोई आपसे बात कर रहा है तो इसका मतलब ये है की वो आपसे कुछ कहने की कोशिश कर रहा है और ऐसे मे अगर आप उसकी बातो को हवा मे सुनोगे तो उसकी बातो का कोई फायदा नही रहेगा और आपके लिए उसकी रिस्पेक्ट कम हो जाएगी. तो दोस्तो अगर कोई भी आपको कुछ कह रहा है तो उसकी बातो को ध्यान से सुने क्योंकि वो आपके लिए ही आपको कुछ बता रहा है. बातो को ध्यान से सुने और फिर बातो का जवाब दे. इसे कहते है रिस्पेक्टफुली बाते करना.

2. केयर (Care) करे

केरिंग करने से भी आप रिस्पेक्ट शो कर सकते हो. अगर किसी को आपकी हेल्प चाहिए तो बेझिझक उसकी हेल्प करे. अगर कोई आपका फ्रेंड मुस्कीबत मे या टेन्षन मे हो तो उसको मोटीवेट करे. ऐसे ही बहुत सी बाते है जिससे केरिंग शो की जा सकती है.

3. Promise ना तोड़े

अक्सर प्रॉमिस तोड़ने से रिलेशनशिप मे प्राब्लम क्रियेट होती है. तो दोस्तो अगर आप कोई काम नही कर सकते तो साफ़ साफ़ मना कर दे. प्रॉमिस तोड़ने से कही ज़्यादा अच्छा है की, मना कर दे. दोस्तो विश्वाश जीतने मे बहुत टाइम लग जाता है और गवाने मे कुछ सेकेंड.

4. अच्छे से रहे

अच्छे से रहने से हमारा मतलब है की :- तमीज़ से रहना. अब एक बात बताए की किसी ओल्ड पर्सन से अफेर की बात करे तो केसा लगेगा, जी हा अजीब तो लगेगा ही. तो दोस्तो हर रिलेशन मे कुछ बंदगी होती है उसी के हिसाब से हमे चलना चाहिए. अपने से छोटे बच्चो से प्यार से बात करे, अपनी आगे वालो से जेसी मर्ज़ी बात करे चलता है पर अपनी से बडो के साथ तमीज़ से रहे.

5. Honest रहे

जी, हा होनेस्ट रहना बहुत ज़रूरी है. झूट बोलने से आप किसी का भी विश्वाश खो सकते हो तो भलाई इसी मे है की आप जेसे अंदर से हो वेसे ही बाहर से रहो. बातो को गोल मटोल ना घुमाए और सॉफ सॉफ बात करे. अपनी बातो से किसी का दिल ना दुखाए और ना ही किसी का झगड़ा करवाए. पीठ पीछे किसी की बुराई ना करे, ऐसा करने से आप सभी का विश्वाश खो सकते हो.

6. अपनी ग़लती माने

ग़लतिया तो सभी से होती है और अपनी ग़लतियो को मानना सबसे बड़ा बढ़पन होता है. दोस्तो अपनी ग़लतियो को छुपाने की कोशिश ना करे क्योंकि यही ग़लतिया आगे जाकर आपको नीचा दिखा सकती है. अपनी ग़लतियो को माने और उसे सुधारने की कोशिश करे.

तो फ्रेंड्स हमे उम्मीद है की आपको हमारा ये आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा. हमे अपनी ओपीनियन बताने के लिए कॉमेंट भाग मे कॉमेंट करे.

 

निचे और भी आर्टिकल है इन्हें भी पढिये

Advertisement
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here