खुले विचारो के इंसान कैसे बने – How To Be Open Minded In Hindi

तो कैसे हो आप लोग, दोस्तों एक बार फिर से आप सभी का स्वागत है हमारे blog पर और आज का article है कि, “खुले विचारो के इंसान कैसे बने”. इस article को शुरू करने से पहले यहाँ पर एक चीज़ गोर करने वाली है कि, earth की पुरी population में से सिर्फ 20% ही लोग क्यों open minded है और बाकी सभी लोग क्यों closed-minded है? इस पर जब survey किया गया तो पाया गया कि, इंसान की सोच का default mode बंद दिमाग को ज्यादा बढ़ावा देता है, है ना ये अजीब बात. मतलब कि, closed mind आपकी सोच thinking को उजागर नहीं करता. तो आप ही बताये कि, ऐसे में इंसान खुले विचारो का कैसे बन सकता है.

जो लोग अपनी life में कुछ बड़ा करना चाहते है या अपने काम को बड़े level तक पहुचना चाहते है तो आपको अपने विचारो को खुला बनाना होगा. आपको बेशरम बनाना होगा, किसी की बातो को दिल पर नहीं लेना होगा, अपनी आदतों को बदलना होगा etc etc. तो दोस्तों अगर आपको पता नहीं है कि, एक closed minded से open minded कैसे बना जाता है? तो इस article में हम आपको कुछ तरीके बताने वाले है जो आपकी help करेंगे. So, please check out below for more information……………………………………………….

खुले विचारो के इंसान कैसे बने – How To Be Open Minded In Hindi

खुद को Open Minded बनाये

सबसे पहले आपको अपने आपको open minded मतलब खुले विचारो का बनाना होगा. नीचे कुछ तरीके बताये गया है, आप इन्हें follow करे और अपने आपमें बदलाव लाये.

1. खुद में बदलाव लाये

अगर आप एक ही काम या रोज एक जेसी life जीते है तो ऐसे में आप अपने सोच या thinking का दायरा नहीं बढ़ा सकते बल्कि आपका दिमाग closed minded बन जाता है. ऐसे में आपको अपने आपमें बहुत बदलाव करने होंगे जेसे कि :- अगर आप ज्यादा educate नहीं है तो अपने आपको आगे पढाये, इससे आपने दिमाग में new new thinking create होंगे, जो आपको खुले विचारो के बनाने के लिये बहुत है. अगर आप आगे नहीं पढना चाहते तो ऐसे में आप books बढ़ कर अपने विचारो के दायरों को बढ़ा सकते हो. आप अपने field की books को पढ़ कर ज्यादा knowledge ले सकते हो नहीं तो आप अखबार, magazines, online article पढ़ सकते हो. हम आपको ऐसा इसलिए कह रहे है क्योंकि ऐसा करने से आपको पता चलेगा कि, दुनिया में ओर भी तरीके है, life enjoy करने के लिये.

इसके अलावा अगर आपको ज्यादा घुमने का शोक है तो आप new new place पर जा सकते है, नयी जगह पर जा कर आपको नयी नयी बाते पता चलेंगी, नये लोगो से अच्छी अच्छी बाते सिखने को मिलेगी और new new languages का पता चलेगा. कुल मिला कर हमारा बोलने का मतलब है कि, ऐसा करने से आप खुले विचारो के इंसान बन सकते हो.

2. बुरा ना माने

हमारे India में 80% population आपको ऐसी मिलेगी जो जल्दी बुरा मान जाते है या ये सोच कर बात नहीं करते है कि, कही सामने वाला बुरा ना मान जाये. बस यही ही एक कमी हमारे विचारो को खुलने नहीं देती. For Example :- मान लो कि, आप एक office में काम करते हो और आपको अपने senior जो की बहुत intelligent है उसकी कोई एक बात आपको बुरी लग गयी और आप उससे कभी भी बात नहीं करना चाहते. तो अगर आप देखोगे कि, ये ego आपको आगे बढ़ने से रोक रही है. किसी की बातो को दिल पर जल्दी लगा लेना, ये सही बात नहीं है इससे पता लगता है कि, आपकी सोच बहुत छोटी है. आपको अपनी सोच की level को increase करना होगा मतलब अपने आपको खुले विचारो का बनाना होगा. अगर आपको किसी की बात बुरी लगी हो तो उसी time सामने वालो को कह दे कि, ये बात आपने गलत बोली है या ये बात मुझे अच्छी नहीं लगी. इस तरह से बात करके आप सामने वालो को intimate कर सकते हो कि, आप open minded person हो. ऐसे में आपके relation सभी के साथ सही रहेंगे.

लोगो के साथ Open Minded (खुले विचारो) रहे

दोस्तों अब बात करते है कि, लोगो के साथ खुले विचारो के कैसे रहे. इस section में हमने कुछ तरीको से बताने की कोशिश की है, हमने उम्मीद है कि, ये तरीके आपको पसंद आयेंगे और इन तरीको का आपको फायदा भी होगा.

1. ज्यादा सुने और Last में बात करे

यहाँ पर एक बात समझे वाली है कि, हमारी सोच बोलने से नहीं बढती बल्कि सुनने से बढती है. तो दोस्तों अगर आप को ज्यादा बोलने की आदत है तो अपनी इस आदत को बदले. तो जब आप अगली बार किसी दोस्तों, किसी बड़े से मिले तो ज्यादा बोलने से बचे और सामने वाले की बातो को ध्यान से सुने और बात ख़त्म होने के बाद अपनी बात रखे. अगर आपको कोई बात समझ ना आई हो तो आप सामने वाले से question कर के अपनी doubt को clear करे. इस तरह से आप अपने विचार को खुला बना सकते हो.

2. Thanks कहना ना भुले

Thanks एक ऐसा word है जो सुनने में तो हल्का हगता है but जब आपको इसके फायदे का पता चलेगा तो आप भी चकरा जाओगे. एक research से पता चला है कि, जो लोग thanks word का use अपनी daily life में ज्यादा करते है वो लोग ओरो लोगो से ज्यादा खुश और open minded रहते है. For Example :- मान लो की आप boss हो और आप अपने employee के great ideas को appropriate करते हो और last में आप thanks word का use भी करते हो तो ऐसे में क्या होगा कि, आपके team के employee अपने आपको respected feel करेंगे, इससे क्या होगा कि, वो आपके सामने new new business ideas ले कर आयेंगे, जो आपके business के लिये अच्छा है.

3. लोगो को जल्दी Judge ना करे

Australia में एक survey किया गया, जहा पाया गया कि, ज्यादातार लोग सामने वालो को बिना जाने पहचाने ही judge कर लेते है. जब इसके पीछे reason ढूंडा गया तो पाया गया कि, जो लोग closed-minded वाले होते है वही ही ज्यादा judge करते है. तो अगर आप judge करने से छुटकारा पाना चाहते है तो पहले लोगो से मिले, बात करे फिर जाकर judge करे. इस बात का भी ध्यान रखे कि, एक दिन में किसी को judge नहीं किया जा सकता.

4. अलग अलग Type के Friend बनाये

अगर आप open minded मतलब खुले विचारो के होना चाहते है तो आपको अपनी life में अलग अलग types के friend बनाने होंगे जेसे कि :- school के friend, college friend, institute friend, home friend, phone friend, social networking friends etc etc. इन सबसे आपको बात करनी चाहिये. इससे क्या होगा कि, अलग अलग लोगो से बात करके आपकी सोच का दायरा बढेगा, आपको अलग अलग चीजों का पता चलेगा etc etc.

तो दोस्तों आपको हमारा ये वाला article केसा लगा, हमे comment करके अपने विचार बताये. अगर आपको इस article से फायदा हुआ तो please इस article को share करना ना भुले. दोस्तों हमारे साथ बने रहे next article के लिये. Thanks and have a nice day all of you.

loading...

2 COMMENTS

  1. Aap ke bato me hame bahut hi prerna mii ham bahu hi aap ke abhari hai aap ne jindgi ke pahlu ke were me hame giyan diya ,aap ki bato se ham purl trah santust hai

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here