घर में कैसे रहे : 2 तरीके आपके लिये

घर एक ऐसी जगह है जहा पर एक परिवार साथ में रहते है. इन परिवार में माता पिता, बच्चे, बड़े बुजुर्ग आजाते है. अगर सही कहे तो परिवार से ही घर बनता है. घर में आप परिवार के साथ रहते है उनके साथ बाते करते है, अपनी अपनी लाइफ अच्छे से जीते है, साथ में खाते है, साथ में सोते है etc etc. तो क्या इसे एक complete घर कहा सकता है? हमारे हिसाब से तो नहीं क्योंकि अगर ये एक complete घर होता है तो आज के time में घरो में लडाई नहीं होती, कोई घर छोड़ कर नहीं जाता, घरो में respect की कमी ना होती etc etc. घर में रहना ही जरुरी नहीं है बल्कि और भी बहुत सी बाते है जिनको फॉलो करके ही आप एक परिवार में आसकते है

आज हम इस आर्टिकल में आपको बतायेंगे कि, घर में अच्छे से कैसे रहा जाता है? परिवार में कैसे रहा जाता है?

घर में कैसे रहे 2 तरीके आपके लिये

अपनी आदते अच्छी रखे

अगर आप ये आर्टिकल पढ़ रहे है तो नेचुरल सी बात है कि, आपके घर में बहुत उथल पुथल है. आप कोई भी हो सकते हो जैसे कि :- माता, पिता, बच्चे, बड़े बुजुर्ग. अगर आप घर में अच्छे से रहना सीखना चाहते है तो सबसे पहले आपको अपनी कुछ बुरी आदतों को अच्छे में बदलना होगा.

1. अच्छे से बोले

आपकी बोली आपका चरित्र दर्शाता है और ये भी show करता है कि, आप कैसी फॅमिली से belong करते है. तो अगर आप घर के सबसे बड़े सदस्य है तो आपके लिये ये जरुरी हो जाता है कि, आप घर में सबसे अच्छे से बोले ताकि आपके बच्चे भी आपकी आदते सीखे जैसे कि :- बड़ो को आप करके बात करे, बच्चो से भी आप करके बात करे, बातो में मिठास लाये क्योंकि बच्चे प्यार से ही बातो को मानते है, हर बात में गुस्सा होना छोड़ दे, बच्चो कि गलतियों को प्यार से बच्चो को समझाये और गलतियों से होने वाले नुकसानों को भी बताये. ऐसे में घर में प्यार बना रहता है. अगर आप बच्चे है तो आपको अपने बड़ो की बातो को मानना चाहिये क्योंकि बाहर के लोग शायद आपका बुरा चाह सकते है पर आपका परिवार आपके माता पिता आपका अच्छा ही अच्छा चाहेंगे. एक बात को हमेशा ध्यान रखे कि, आपका चरित्र आपका future decide करता है.

2. साथ खाना खाये

अक्सर देखा गया है कि, परिवार के लोग अलग अलग खाना खाते है कोई अपने रूम में खाना खाता है तो कोई kitchen में. ऐसे में आपका और आपके परिवार की बोलचाल कम रहती है जिस करके आप सभी में एक दुसरे की respect कम हो जाती है. तो हम आपको यही सलाह देंगे कि, सुबह, दिन या शाम को साथ में मिल कर खाना खाये. ऐसे में जब सब साथ में बैठे होंगे तो आप एक दुसरे से पूछ सकते है कि, लाइफ कैसी चल रही है? आज क्या हुआ? etc etc बाते. अगर घर का कोई सदस्य किसी परेशानी में हो तो आप सब मिल कर परेशानी दूर कर सकते हो.

3. हसी मजाक करते रहे

जिस घर में सन्नाटा रहता है उसके 2 वजह हो सकते है एक घर में बड़ो की सख्ती का बहुत होना या दुसरा आपस में बोलचाल कम का होना. ऐसे परिवार को घर में अच्छे से रहना नहीं कह सकते. आपके परिवार के बीच बोलचाल का होना और हसी मजाक का होना बहुत जरुरी है तभी परिवार के सभी member एक दुसरे से खुल कर बात कर पायेंगे.

अगर आप घर के सबसे बड़े है तो पहल आपको करनी होगी. बच्चो के साथ बैठे उनसे हस कर बात करे, किसी बात को मजाकिया मूड में बात करे, बच्चो के साथ खुल कर हसे, अपनी पत्नी को हसी मजाक में छेड़े etc etc. ऐसे में घर में खुशहाल माहोल बना रहता है.

4. अपनी जिम्मेदारी को समझे

घर के members की अपनी अपनी भूमिका होती है जैसे कि :- पिता कि बच्चो और पत्नी का ख्याल रखना……. उनकी जरूरतों को पूरा करना, पत्नी का बच्चो का अच्छे से पालन पोसन करना और पति का हर समय साथ देना, बच्चो का अपना और अपने माता पिता का ख्याल रखना……….. उनकी बातो को मानना………… अच्छे से पढाई करना………. माँ बाप का नाम रोसन करना. अगर सभी अपनी अपनी जिम्मेदारियों को अच्छे से समझ कर फॉलो करे तो आप एक अच्छी family बन सकते है.

घर पर रहने का तरीका

अब आपको बताते है कि, घर में कैसे रहा जाता है. निचे हमने कुछ tips बताये है इन्हें पढ़े और आजमाये.

1. Rules के हिसाब से रहे

जिस घर में rules नहीं होते है उस घर में discipline की कोई जगह नहीं होती और जहा discipline ना हो उस घर को घर नहीं कहा जा सकता. घर में discipline लाना माता पिता का काम होता है. माता पिता को घर में एक rules set करना चाहिये जिसमे सुबह के उठने से रात के सोने का time set हो जैसे कि :- आपने सुबह कब उठना है या बच्चो ने सुबह कब उठाना है, ब्रेकफास्ट कब करना है, काम कब करना है, खेलना कब है, टीवी कब देखना है, बाहर कितने से कितने बजे तक घुमाना है, बच्चो ने पढाई कितने से कितने time तक करना है etc etc. इस तरह से आप घर में discipline ला सकते है.

2. Voilance ना करे

बच्चो का चीखना चिल्लाना, loudly हसना, लड़ना तो चलता रहता है पर अगर यही ही हरकते बड़ो का रहे तो आप कह सकते हो कि, इस घर में voilance बहुत है. इस बात को हमेशा ध्यान रखे कि, बच्चे आपसे ही सीखते है और आपको ही फॉलो करते है. तो ऐसे में अगर आप घर में बच्चो के साथ मार पीट करते है या बच्चो पर ज्यादा चिल्लाते है तो हम दावे के साथ कह सकते है कि, बड़े हो कर आपके बच्चे भी आपके साथ ऐसा ही करेंगे और ये बात बुरी नहीं है क्योंकि बच्चे आपही से ही सीख रहे है.

तो अगर आप बच्चो को घर पर रहना सिखाना चाहते है या खुद घर पर अच्छे से रहना चाहते है तो आपको voilance बंद करनी होगी और अच्छे से अपनी बातो को दूसरो के सामने रखना होगा. बच्चो या पत्नी की गलतियों को माफ़ करना होगा और उनको प्यार से समझाना होगा.

3. सभी को Space दे

इंसान हो या कुत्ता अगर आप 24सो घंटे उनके साथ रहोगे तो ऐसे में उन्हें uncomfortable फील होगा क्योंकि सभी को अपनी लाइफ में space चाहिये होता है जिसमे वो अपनी इक्छाओ को पूरा कर सके, अपनी लाइफ को अपने हिसाब से एन्जॉय कर सके, अपनी नजरो से दुनिया देख सके. और ये तभी हो सकता है जब घर कर बड़ा सदस्य घर के सभी member को space दे. ऐसे में सभी अपने आपको फ्री फील करते है और अपने experience को एक दुसरे से शेयर करते है.

4. Respect करे

घर में एक साथ रहना ही जरुरी नहीं होता बल्कि घर के हर एक member में respect का होना भी जरुरी है. Respect से मतलब है कि, अपने पिता को पिता की ही नजरो से देखे और उनका सम्मान करे, माता के साथ अपनी बाते शेयर करे…… अपनी परेशानियों को बताये, अपने से छोटो को प्यार करे, अपने से बड़े बुजुर्गो के साथ अच्छे से बात करे, बड़ो की बातो को माने etc etc.

तो दोस्तों आपको ये आर्टिकल केसा लगा, हमे comment के through बताये और अगर आपके मन में कोई सवाल हो तो आप हमे पूछे. दोस्तों हमारे साथ बने रहने के लिये thanks.

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here