पूजा घर : घर में मंदिर कैसे बनाये

एक बार फिर से आप सभी का स्वागत है हमारे blog पर. दोस्तों आज का आर्टिकल है कि, “घर में मंदिर कैसे बनाये”. जैसा की आप सभी को पता है कि, भारत धर्मो का देश है और भारत में भगवानो को बहुत पूजा जाता है. आप हिन्दुओ के घरो में पूजन के लिये मंदिर देख सकते है. इन मंदिर में वे हर रोज पूरी श्रधा और पुरे मन के साथ भगवान् को याद करते है.

तो दोस्तों अगर आप घर में मंदिर बनाने की सोच रहे है तो आप सही जगह पर आये है. इस आर्टिकल में हम आपको बतायेंगे कि, घर पर मंदिर किस स्थान पर होना चाहिये? घर में मंदिर कैसे बनाये? और मंदिर बनाते समय किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिये?

पूजा घर घर में मंदिर कैसे बनाये

 

पहले कुछ बातो के बारे में जाने

दोस्तों मंदिर बनाने से पहले आपको बहुत सी बातो को ध्यान में रखना होता है. वो कोन सी बाते है वो हमने आपको निचे बता राखी है. इन्हें पढ़े और फिर घर पर मंदिर बनाये.

1. घर में मंदिर का स्थान

बहुत से लोग घर पर मंदिर कही पर भी बना लेते है और पूजा start कर लेते है. ऐसे में क्या होता है कि, आप पूजा का सम्पूर्ण लाभ नहीं उठा पाते है. तो अगर आप घर पर पूजा घर बनाना चाहते है तो आपको पहले ये पता होना चाहिये कि, किस जगह पर मंदिर बनाना सुभ है.

दोस्तों आपने वास्तु शास्त्र का नाम तो सुना ही होगा, अगर हम वास्तु शास्त्र की बात करे तो वास्तु के हिसाब से घर में पूजा घर ईशान कोण मतलब उत्तर-पूर्व की तरफ होना चाहिये. पंडितो का मानना है कि, अगर पूजा घर इस स्थान में हो तो घर में एक पॉजिटिव एनर्जी रहती है जिस वह से घर में सुख शांति हमेशा बनी रहती है. बहुत से लोगो के मन में ये सवाल भी चल रहा होगा कि, भाई उत्तर-पूर्व में ही क्यों पूजा घर होना चाहिये? देखिये वास्तु शास्त्र के हिसाब से इस दिशा में भगवान् का वास होता है………. जिस वजह से भगवान् की कृपा घर पर बनी रहती है.

2. और कोन सी जगह पर पूजा घर बना सकते है

अगर किसी वजह से घर में उत्तर-पूर्व की जगह पर पूजा घर बनाना नामुमकिन सा हो जाये तो फिर आप क्या करोगे. आप में से बहुत से लोग इस तरह की problem को face कर रहे होंगे. देखिये अगर घर पर उत्तर-पूर्व दिशा में किसी वश आप पूजा घर बनाने में नाकाम हो रहे है तो आप उत्तर और पूर्व दिशा का चयन करना चाहिये. अगर आपको लगता है कि, आप उत्तर और पूर्व दिशा में भी पूजा घर नहीं बना पा रहे है तो फिर आपको पूर्व-दक्षिण की तरह बना लेना चाहिये.

3. खंडित मूर्तियां ना रखें

अब खंडित मूर्तियों की पूजा क्यों नहीं करनी चाहिये इसके बारे में हम कुछ कह नहीं सकते है पर अगर शास्त्रों की बात की जाये तो खंडित मूर्तियों की पूजा करना वर्जित करा गया है. खंडित मूर्तियों को कही साफ़ नदी में बहा देना चाहिये.

घर में मंदिर बनाये

दोस्तों अब बात करते है कि, घर पर मंदिर कैसे बनाये? निचे हमने कुछ tips बता रखे है उन्हें मंदिर बनाते समय याद रखे.

1. किस तरह का मंदिर चाहते है आप

अगर आप घर पर मंदिर बनाना चाहते है तो आपको ये पता होगा कि, कितने size में आपको मंदिर बनाना है वो size कुछ भी हो सकता है जैसे कि :- छोटा मंदिर, एक कमरे में मंदिर. अगर आप एक छोटा सा मंदिर बनाना चाहते है तो आप market से एक छोटा सा मंदिर घर खरीद सकते है. मंदिर घर में आपको पूरा set मिलता है. आप इसे दिवार पर कही पर भी लगाये. पर अगर आप एक कमरे में मंदिर घर बनाने की सोच रहे है तो आपको मंदिर के लिये बहुत सी वस्तुवो की जरुरत होगी.

2. मंदिर के लिये वस्तु

अब बात करते है कि, किस किस तरह की मंदिर वस्तु रखने से मंदिर सम्पूर्ण होगा. माना जाता है कि, जब आप मंदिर में भगवानो की तस्वीर या मुर्तिया लगाते है तो आपको सबसे पहले गणेश जी की मूर्ति रखनी चाहिये. इस बात का ध्यान रखे कि, गणेश जी की 3 प्रतिमाये नहीं होनी चाहिये. इस बात का भी ध्यान रखे कि, घर पर कभी भी बड़ी मुर्तिया नहीं रखनी चाहिये. अगर आप घर पर शिवलिंग रखने की सोच रहे है तो आपको अंगूठे की size जितना शिवलिंग रखना सुभ होता है. मंदिर को सजाने के लिये आप फुल पत्तो का इस्तेमाल कर सकते है पर इस बात का ध्यान रखे कि, फूल पत्तो को बिना धोये या साफ़ करके मंदिर में रखे. पूजा करते समय या पूजा घर में जला हुआ दिया होना बहुत जरुरी है तभी आपकी पूजा पूर्ण रूप से पूरी होगी. अगर आप पूजा घर में शंख रख सकते है तो रखे…….. ये बहुत सुभ होता है.

3. कुछ ध्यान में रखने वाली बाते

कुछ और important बातो के बारे में भी आपको पता होना चाहिये जैसे कि :- जब आप पूजा कर रहे हो तो आपका मुह पश्चिम दिशा की ओर होना चाहिये ये सुभ होता है. पूजा घर तक सूरज की किरणे जाये तो आपके लिये और आपके घर के लिये बहुत अच्छा रहता है. जब आप पूजा पूरी कर चुके हो तो तब आपको कुछ मिनट तक घंटी बजानी चाहिये…… तभी आपकी पूजा पूर्ण रूप से पूरी होगी. दोस्तों इस बात का ध्यान रखे की, पूजा घर में चमड़े और जुते चप्पल लाना अच्छा नहीं माना जाता है.

तो दोस्तों अब आप पूजा घर से related बहुत सी बातो के बारे में जान चुके होंगे. अगर आपके मन में कोई ओर सवाल है तो आप हमसे comment के through जरुर पूछे. हमारे साथ बनने के लिये thanks.

Advertisement
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here