फेसबुक फाउंडर मार्क ज़ुकेरबर्ग : 20 अनमोल वचन

मार्क ज़ुकेरबर्ग का जन्म 14 may, 1984 को White Plains, New York, USA मे हुआ. उनके पिता का नाम Edward Zuckerbeng है और माता जी का नाम karen kempner है. बचपन से ही मार्क ज़ुकेरबर्ग को कंप्यूटर मे बहुत इंटेरेस्ट था. आप लोगो को बता दे की मार्क ज़ुकेरबर्ग फ़ेसबुक के फाउंडर है. 4 feburary, 2004 को मार्क ज़ुकेरबर्ग ने फ़ेसबुक को लॉंच किया था और आज फ़ेसबुक पूरी दुनिया मे अपना दबदबा बनाए हुये है. फ़ेसबुक का मकसद लोगो को आपस मे जोड़ने से है, आप दुनिया के किसी भी कोने मे क्यों ना हो आप फ़ेसबुक के ज़रिए आपस मे बात कर सकते हो, फोटो शेयर कर सकते हो, स्टेटस लिख सकते हो etc etc. कहते है ना की एक इंसान की काबिलियत उसके बचपन से ही पता चल जाती है वेसे ही मार्क ज़ुकेरबर्ग बचपन से ही बड़े तेज थे, वो किसी ना किसी प्रोग्राम मे भाग ज़रूर लेते थे. मार्क ज़ुकेरबर्ग ने एक इंटरव्यू मे कहा था की वो दूसरो के motivational quotes से inspire होते है. मार्क ज़ुकेरबर्ग के बचपन से ही अपने अलग विचार थे, तो आइए जाने उनके अनमोल विचारो को.

Mark Zuckerberg Best Qutoes In Hindi – Top 20 Motivational Qutoes

Mark Zuckerberg Quotes On Success In Hindi

      दुनिया के सफल बिजनेसमैन मे से एक फ़ेसबुक के फाउंडर मार्क ज़ुकेरबर्ग के अनमोल विचार. इन कोट्स को पढ़े और अपनी लाइफ को success way पर ले जाए.

 

कोट्स 1. हमारी कंपनी का मकसद दूसरे लोगो की मदद करना है.

कोट्स 2. मैं दूसरो से अलग नही हू जेसा आप करते है वेसे ही मैं भी करता हू.

कोट्स 3. जब मैं हार्वर्ड मे था तो मेने बहुत सी चीज़े बनाई थी वो सब फ़ेसबुक के छोटे version थे. हमेशा से मेरा मकसद एक फ़ेसबुक जेसा बनाने का ही था.

कोट्स 4. मैं अपने यूज़र को बस इतना ही कहना चाहूगा की फ़ेसबुक एक फ्री सेवा है और हमेशा ही फ्री रहेगी. हम ads के थ्रू पैसा कमाते है.

कोट्स 5. जब मैं 19 साल का था तब मेने साइट खोली थी तब मैं business के बारे मे कुछ भी नही जनता था.

कोट्स 6. हम फ़ेसबुक को एसी जगह बनाना चाहते है जहा लोगो को कुछ सीखने को मिले.

कोट्स 7. जब मे 6th क्लास मे था तब मुझे फर्स्ट कंप्यूटर मिला था, मैं बहुत excited था जानने के लिए की ये चलता केसा है, इसका प्रोग्राम काम केसे करता है. मैं इसे deeply से जानना चाहता था.

कोट्स 8. हा आप लोगो ने सही सुना की मेने स्कूल के टाइम मे फ़ेसबुक कोड किया था और वही से इसे लॉंच किया. तब मेने फ़ेसबुक के साइड मे एक ads लगायी थी और वो ads आज तक है.

कोट्स 9. हमारा फ़ेसबुक खोले का मकसद ये है की लोग एक दूसरो को अच्छी तरह से connect हो और communicate करे.

कोट्स 10. अगर आप फ़ेसबुक की सच्ची कहानी जानना चाहते है तो बता दे की ये बड़ी बोरिंग थी. हमने 6 साल तक बड़ी मेहनत करी.

कोट्स 11. मेरा मकसद फ़ेसबुक को एक कंपनी बनाना नही था बल्कि एक सोशियल सर्विस बनाना था, जिससे लोग आपस मे connect हो सके.

कोट्स 12. आज करोड़ो कंपनी है जिसका पेज फ़ेसबुक पर है और वो अपने कस्टमर्स से फ़ेसबुक पर ही बात करते है.

कोट्स 13. जब मैं गूगल को देखता हू तो बहुत मोटीवेट होता हू और चाहता हू की एक दिन मैं भी गूगले की तरह बनू.

कोट्स 14. सही मैं दुनिया बहुत तेज़ी से बढ़ रही है और जो ये नही सोचता वो बहुत पीछे रह जाता है.

कोट्स 15. आज फ़ेसबुक वन मिलियन लोगो से connect है और ये मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है.

कोट्स 16. सीधा सफलता मिलने से अच्छा है की आप असफल हो जाए ताकि आप उससे कुछ सीखे.

कोट्स 17. मैने ये कंपनी पैसे बनाने के लिए नही खोली है बलि पैसे कमा कर अच्छी सेवा देने के लिए खोली है.

कोट्स 18. मेरा मिशन अभी ख़त्म नही हुआ है अभी तो बहुत कुछ करना है.

कोट्स 19. मैं हर रोज अपने से यही सवाल पूछता हू की, क्या मे जो कर रहा हू सही कर रहा हू?”.

कोट्स 20. लाख रूपीय की एक बात, सफल बिजनेसमैन का एक ही तरीका होता है सरल काम पहले करो.

तो फ्रेंड्स आपको ये वाला आर्टिकल केसा लगा, अगर अच्छा लगा तो हमे कॉमेंट बॉक्स पर कॉमेंट करे. और हा प्लीज़ इस आर्टिकल को जितना हो सके उतना शेयर करे सोशियल मीडीया साइट्स पर.

Niche aur bhi article hai jo aap padh sakte hai

Advertisement
loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here