बच्चो के Stress को कैसे दूर करे – Reduce Children Stress In Hindi

तो कैसे हो आप सभी, दोस्तों आज का topic है कि, “बच्चो के stress को कैसे दूर करे”. जेसा कि, आप सभी को पता है कि, stress एक natural process है इसे सभी age के बच्चे, लोग face करते है. दोस्तों बड़ो के मुकाबले छोटे बच्चो में stress को झेलने की power कम होती है क्योंकि बच्चे अलग अलग stress को पहली बार face कर रहे होते है. बच्चो का stress कुछ भी हो सकता है जेसे कि :- friends के साथ बात करने में problem आना, पढाई की tension, family matter की वजह से tension में होना, काम करने की चिंता, कुछ समझ ना आने का tension etc etc. इस तरह के तनाव में अगर बच्चे को ढंग से guide ना किया जाये तो बच्चे आगे जाकर depression का भी शिकार हो सकते है. तो आपको ये जरुरी है की अपने बच्चे से बात करे और उनकी problem को solve करने की कोशिश करे.

अगर आप बच्चो के stress के बारे में और समझना चाहते है या उनकी किस तरह से help करे? ये जानना चाहते है तो आपको ये article पूरा पढना पड़ेगा. So, please check out below for more information……………………………………………………

बच्चो के Stress को कैसे दूर करे - Reduce Children Stress In Hindi

जाने आपका बच्चा Stress में क्यों है

अगर आपका बच्चा अक्सर अकेले में रहता है या ओरो बच्चो की तरह हसता नहीं है या बात नहीं करता है तो हो सकता है कि, आपका बच्चा किसी tension या stress का शिकार है तो ऐसे में आपको अपने बच्चे की stress की वजह को जानना चाहिए. नीचे हमने कुछ तरीके बताये है इन्हें पढ़े और follow करे.

1. अपने बच्चे से बात करे

बहुत सारे बच्चे ऐसे भी होते है जो stress या tension की situation में अपने घर वालो से बात करना पसंद नहीं करते है इसके पीछे एक reason ये भी हो सकता है कि, बच्चो को डर लगता होगा कि, कही घर वाले डाट ना दे या इसमें भी हमारी गलती ना निका दे. अगर आपका बच्चा आपसे अपने तनाव को share नहीं करता है तो आपको आगे बढ़ना चाहिए. जब भी आपको लगे कि, आपका बच्चे का mood सही नहीं है या वो किसी tension में है तो उसके पास जाये और उससे कहे कि , “मुझे पता है कि, तुम किसी tension में हो. तुम मुझे अपनी tension बता सकते हो”. आपके इस तरह से कहने से आपका बच्चा relax feel करेगा और आपको अपनी tension बतायेगा.

2. अपने बच्चे की भी सुने

कई माँ बाप ऐसे भी होते है जो अपने बच्चे की problem को सुनते नहीं है और अगर सुनते भी है तो बच्चे की बात को काट देते है. इस तरह से बच्चे कभी भी अपने माँ बाप से अपने problem share नहीं करते है. तो दोस्तों अगर आपको अपने बच्चे की help करनी है तो पहले आपको अपने बच्चे की पूरी बात को सुनना होगा. बच्चे की पूरी बाते सुने और ये देखे की वो क्या कहना चाहता है. Doctors का मानना है कि, अगर बच्चा खुल कर अपनी बात अपने घर वालो के सामने रखता है तो ऐसे में बच्चा बहुत ज्यादा relax feel करता है.

3. डर से लड़ना सिखाये

अक्सर जब बच्चे किसी चीज़ से डर जाते है तो ऐसे में वो डर से भागने की कोशिश करते है. ऐसा करना सही नहीं है क्योंकि अगली बार बच्चा उस डर से ओर ज्यादा डर जाता है. ऐसे में आपको अपने बच्चे को encourage करना चाहिए और डर से लड़ना सिखाना चाहिए. For example :- अगर आपका बच्चा किसी जानवर से डरता है तो ऐसे में आपको अपने बच्चे को बताना चाहिए कि, ये जानवर कुछ नहीं करता है इससे डरने की जरुरत नहीं है. आपको अपने बच्चे को teach करवाना चाहिए कि, जानवरों से कैसे behave करना होता है.

4. अपने बच्चे को Stress के बारे में बताये

अभी आपके बच्चे छोटे है उन्हें ये पता नहीं होगा कि, stress क्या होता है? और इससे कैसे निकलते है? ऐसे में आपको अपने बच्चे को stress के sign के बारे में बताना चाहिए. Stress sign 2 types के होते है एक physical sign और दूसरा emotional sign.

Physical sign में :- नींद का ना आना, भूक ना लगना, sir दर्द होना, bed में ही मूत देना, खुश ना रहना, गुस्से में रहना, ढंग से बात ना करना etc etc आजाता है.

Emotional sign में :- रोना, हर बात पर चिल्लाना, घर वालो की ना सुनना, हकलाना, nervousness होना, सही से बात ना करना etc etc.

अगर आप ये सब अपने बच्चे को बताओगे तो आपका बच्चा stress के बारे में समझ सकता है और अगली बार आपको अपनी problem बता सकता है.

बच्चो के Stress दूर करने का तरीका

अब बात करते है कि, बच्चो को stress से दूर रखने के लिए क्या किया जाये? नीचे हमने कुछ best and unique तरीके बताये है, इन्हें पढ़े और follow करे.

1. अपने बच्चे को Relaxation Techniques के बारे में बताये

अगर आप अपने बच्चे को tension और stress से दूर करना चाहते है तो आपको सबसे पहले अपने बच्चे को relaxation techniques के बारे में बताना होगा. नीचे हमे best 3 technique बताये है जो best है, इन्हें करे.

(a) Deep Breathing करे

Deep breathing सबसे fast तरीका है किसी भी situation को handle करने के लिए. कई बार हम आचानक से किसी stress को feel करते है और ऐसे में हमारे दिमाग चलना बंद हो जाता है तो ऐसे में हमे उसी time deep breathing करनी चाहिए. आप अपने बच्चे को deep breathing के बारे में बताये. अपने बच्चे को सिखाये कि, deep breathing करने के लिए पहले लम्बी साँस लेनी पड़ती है फिर 5 second के लिए साँस रोकनी होती है और फिर mouth से धीरे धीरे साँस छोडनी होती है.

(b) Muscles Relax करे

Muscles relaxation में आप अपने बच्चे को सिखा सकते हो कि, body को कैसे relax किया जाता है. Muscles relax करने के लिए आपको दिन में कोई ऐसा time चुनना होगा जिस time पर आप relax feel करते हो. उसके बाद आपको comfortable place धुंडने की जरुरत है जहा पर आप अच्छे से muscles relax कर सको. एक mat बिछाये, उसमे सीधा लेट लाये और आखे बंद करके relax होने की कोशिश करे.

(c) Meditation करे

Meditation बच्चो से लेकर बड़ो तक के लिए बहुत अच्छा है. Meditation आपके tension और stress को reduce करने में help करता है. Starting से ही अगर बच्चो को Meditation की आदत लगा दिया जाये तो आगे जाकर बच्चा अपने आपमें बहुत positivity feel करता है. हो सकता है कि, starting में बच्चे को meditation करने में problem आये या उनके मन में बहुत सवाल चले. आपको अच्छे से meditation के बारे में बताना है और सिखाना है.

2. बच्चे की नींद पूरी रखे

नींद का पूरा ना होना भी एक reason हो सकता है बच्चो में stress का बढ़ना. अगर आप अपने बच्चे को 8 घंटे की नींद देते हो तो ये भी कम है. Doctors का मानना है की, बच्चो की growth के लिए और relax रहने के लिए 10 से 11 घंटे की नींद बहुत जरुरी है. इसके साथ साथ बच्चो को school से आने के बाद 20 से 30 minute की नींद भी देनी चाहिए, ऐसे में बच्चा relax feel करता है.

3. अपने Family Doctors से बात करे

इतना सब कुछ करने के बाद भी अगर आपको लगे कि, आपका बच्चा stress को कम नहीं कर पा रहा है तो ऐसे में आपको doctor की help लेनी चाहिए. Doctor के पास ले जाये और उनसे बात करे. हो सकता है कि, आपके बच्चे ने stress को इतना सह लिया हो कि, अब वो इससे बहार ना निकल पा रहा हो. अच्छी medication से ही आपका बच्चा stress से बहार निकल सकता है.

तो दोस्तों आपको हमारा ये article केसा लगा, हमे commenting के through बताये. अगर आपके मन में इस article से related और कोई सवाल है तो वो भी आप हमसे पूछ सकते है. दोस्तों हमारे साथ बने रहे next article के लिए. Thanks and have a nice day all of you.

loading...

11 COMMENTS

  1. sir. jab mai kisi se baat karta hu tab kuch deer tak thick se baat kar le ta hu. but thodi deer baad daar saa lag ne lagta Hai. kya karu

  2. sir. jab saam ne wala insaan apni baat par tika rahe ta hai or wo kuch galat baat bol ta hai to mai us ka jawaab thick se nahi de pata es kaaran mujhe daar saa lag ta hai

    • kanchan ji, dekho body ko banane ke liye pahle aapko exercise karna hoga…………. isse body me khichaav aata hai aur body ke sabhi parts kaam karte hai……. ese me aapko bhook lagegi aur aapki body growth hogi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here